रत्न शास्त्र के अनुसार, 9 रत्न और 84 उपरत्न होते हैं. ये सभी 9 रत्न नवग्रहों से संबंधित होते हैं. वहीं, प्राचीन ग्रंथों में भी 84 से अधिक उपरत्नों के बारे में बताया गया है. हालांकि, इनमें से कुछ रत्न अब बहुत कम पाए जाते हैं. इन्हीं में एक है जहर मोहरा रत्न.

रत्नशास्त्र में जहर मोहरा रत्न को औषधियों से भरपूर रत्न माना गया है, क्योंकि यह ऐसा रत्न है, जिसमें सांप के जहर के प्रभाव को कम करने की शक्ति होती है. इसे सरपेंटाइन रत्न (Serpentine Stone) के नाम से भी जाना जाता है

यह हल्का सफेद, पीला और हरे रंग का होता है. ज्योतिषी के सलाह से इसकी अंगूठी या माला बनाकर धारण की जा सकती है. दिल्ली के आचार्य गुरमीत सिंह जी से जानते हैं किन कामों में होता है जहर मोहरा रत्न का इस्तेमाल और क्या हैं इसके फायदे.

जहर मोहरा रत्न का इस्तेमाल आयुर्वेदिक दवाइयां बनाने में की जाती है. हालांकि, जो रत्न पूरी तरह से शुद्ध होते हैं केवल उन्हीं का उपयोग दवा बनाने में किया जाता है.

जहर मोहरा रत्न का इस्तेमाल (Jahar Mohra Gemstone Usage)

 जहर मोहरा मुख्य रूप से सिलिकेट्स, लोहा, एल्युमिनियम, जस्ता और मैंगनीज के सिलिकेट्स से बनता है, जिसका इस्तेमाल प्याले और खरल बनाने में भी किया जाता है.

जहर मोहरा रत्न का इस्तेमाल (Jahar Mohra Gemstone Usage)

इसके अलावा आभूषण और अलंकरण बनाने में भी इसका इस्तेमाल होता है

जहर मोहरा रत्न का इस्तेमाल (Jahar Mohra Gemstone Usage)

जहर मोहरा रत्न को धारण करने के कई फायदों के बारे में बताया गया है. कुंडली साधना कर रहे लोगों के लिए यह रत्न लाभकारी होता है.

जहर मोहरा रत्न के फायदे (Jahar Mohra Gemstone Benefits)

इस रत्न से पितृ दोष का प्रभाव कम होता है. यह रत्न सर्पदंश और नजर दोष से भी बचाव करता है.

जहर मोहरा रत्न के फायदे (Jahar Mohra Gemstone Benefits)

ज्योतिषी के अनुसार जहर मोहरा रत्न धारण करने से व्यक्ति की ध्यान क्षमता विकसित होती है.

जहर मोहरा रत्न के फायदे (Jahar Mohra Gemstone Benefits)

वैसे तो किसी भी रत्न को बिनी ज्योतिषी सलाह के धारण नहीं करना चाहिए और जहर मोहरा रत्न को भी धारण करने से पहले ज्योतिषी सलाह अवश्य लें.

जहर मोहरा रत्न के फायदे (Jahar Mohra Gemstone Benefits)