Pradosh Vrat 2022 Date Puja Vidhi Shubh Muhurat aur kaise kare iski puja | प्रदोष व्रत में अगर इन बातों का नहीं रखा ध्यान तो होंगे शिव नाराज

देवों के देव महादेव की पूजा करने के लिए हर महीने के कृष्ण और शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी के दिन प्रदोष व्रत रखा जाता है। मान्यता है कि इस व्रत में शिव की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। लेकिन पूजा में कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। आइए जानते हैं कि वे क्या हैं।

प्रदोष व्रत के दौरान अगर इन बातों का ध्यान नहीं रखा तो शिव नाराज हो जाएंगे।

प्रदोष व्रत में करें ये उपाय

छवि क्रेडिट स्रोत: pixabay.com

प्रदोष व्रत भगवान शिव और माता पार्वती की कृपा पाने के लिए रखा जाता है। इस दिन सच्ची श्रद्धा और विधि-विधान से पूजा करने से घर की दरिद्रता और दोष दूर हो जाते हैं। सूर्यास्त और रात्रि के गोधूलि के बीच के समय को प्रदोष काल कहा जाता है। माना जाता है कि यह समय शिव की पूजा के लिए सबसे शुभ होता है। नवंबर माह में 21 नवंबर 2022 को सोम प्रदोष व्रत पड़ रहा है। प्रदोष व्रत करने से व्रती के सभी संकट शीघ्र ही दूर हो जाते हैं और उन्हें सुख-सौभाग्य की प्राप्ति होती है। आइए जानते हैं इस व्रत में क्या करें और क्या न करें।

सोम प्रदोष की पूजा का शुभ मुहूर्त

पंचांग के अनुसार इस वर्ष मार्गशीर्ष मास के कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली त्रयोदशी तिथि 21 नवंबर 2022 को सुबह 10 बजकर 7 मिनट से शुरू होगी और 22 नवंबर 2022 को सुबह 08 बजकर 49 मिनट पर समाप्त होगी। इस दिन श्रेष्ठ मुहूर्त है। शाम को 05:25 से 08:06 तक प्रदोष काल में भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा है।

प्रदोष व्रत के दौरान ऐसा करें

  1. व्रत वाले दिन सबसे पहले सुबह जल्दी उठकर स्नान करें और व्रत का संकल्प लें।
  2. शिव पूजा के दौरान भोलेनाथ को लपत्र, अक्षत, दीप, धूप, गंगाजल आदि अर्पित करें।
  3. अगर आपने यह व्रत रखा है तो कोशिश करें कि इस दिन कुछ भी न खाएं। अगर आप बीमार हैं तो उपवास न रखें।
  4. पूजा शुरू करने से पहले गंगाजल छिड़क कर पूजा स्थान को साफ कर लें।
  5. जल चढ़ाते समय ॐ नमः शिवाय का जाप करें।
  6. पूजा करते समय इस बात का ध्यान रखें कि आपका मुख उत्तर-पूर्व दिशा में होना चाहिए।

प्रदोष व्रत में यह काम न करें

व्रत में चावल, अनाज, मिर्च, नमक आदि का सेवन न करें। अक्सर लोग व्रत में अधिक मात्रा में फल खाते हैं। कोशिश करें कि फल खाकर आप अपने मुंह को बार-बार झूठा न बनाएं। अगर आप व्रत रखते हैं तो कोशिश करें कि पूरे दिन में एक बार ही हल्का भोजन करें।

इसे भी पढ़ें



(यहां दी गई जानकारी धार्मिक मान्यताओं और लोक मान्यताओं पर आधारित है, इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है। इसे आम जनहित को ध्यान में रखते हुए यहां प्रस्तुत किया गया है।)

Leave a Reply

error: Content is protected !!