How to apply Tilak kaise lagaye day wise tilak Remedies in Hindi | माथे पर क्यों लगाते हैं तिलक, जानें इससे जुड़े नियम और अचूक उपाय

देवी-देवताओं की पूजा करने या माथे पर तिलक लगाने से पहले इन जरूरी नियमों को जान लें।

माथे पर क्यों लगाया जाता है तिलक, जानिए इससे जुड़े नियम और अचूक उपाय

तिलक लगाने की विधि और नियम

पूजा पर तिलक लगाने के लाभ: सनातन परंपरा में देवी-देवताओं की पूजा में लगाए जाने वाले तिलक का धार्मिक महत्व बहुत अधिक है। भगवान की पूजा का अभिन्न अंग माने जाने वाले तिलक का प्रयोग अलग-अलग देवी-देवताओं के लिए अलग-अलग तरह से किया जाता है। जैसे भस्म से बने तिलक का प्रयोग भगवान शिव के लिए किया जाता है, जबकि पीले चंदन के तिलक का प्रयोग भगवान विष्णु के लिए किया जाता है। देवी-देवताओं के श्रृंगार के लिए इस्तेमाल होने वाला तिलक भी भगवान को दिया जाने वाला एक बड़ा प्रसाद माना गया है। आइए जानते हैं पूजा में लगने वाले विभिन्न प्रकार के तिलक के धार्मिक महत्व और उससे जुड़े अचूक उपायों के बारे में विस्तार से।

तिलक लगाने का नियम

पवित्र तिलक, जिसे भगवान का आशीर्वाद माना जाता है, हमेशा दोनों भौंहों यानी आज्ञा चक्र पर स्नान और ध्यान करने के बाद उत्तर दिशा की ओर मुख करके लगाना चाहिए। भगवान को जहां अनामिका से तिलक लगाना चाहिए वहीं स्वयं को मध्यमा या अंगूठे से लगाना चाहिए।

पूजा में तिलक लगाने के फायदे

भगवान की पूजा में तिलक को भगवान का प्रसाद माना जाता है, जिसे सिर पर लगाने से न केवल दैवीय कृपा बनी रहती है, बल्कि इसके शुभ प्रभाव से व्यक्ति का मन शांत रहता है। आज्ञा चक्र पर तिलक लगाने से न केवल आपका मन शांत रहता है बल्कि आपको सकारात्मक ऊर्जा भी मिलती है। यही वजह है कि हिंदू धर्म से जुड़े शैव, वैष्णव और शाक्त परंपरा से जुड़े सभी लोग इसे पूजा के दौरान बड़ी आस्था और विश्वास के साथ पहनते हैं। पूजा में प्रयोग होने वाला तिलक केवल माथे पर ही नहीं बल्कि सिर, गर्दन, दोनों भुजाओं, हृदय, नाभि, पीठ आदि पर भी लगाया जाता है।

इसे भी पढ़ें



दिन के अनुसार तिलक लगाएं

  • सोमवार : महादेव और चंद्र देव की कृपा पाने के लिए सोमवार के दिन सफेद चंदन का तिलक लगाएं।

  • मंगलवार : पवनपुत्र हनुमान और भूमिपुत्र मंगल देवता की कृपा पाने के लिए लाल चंदन या सिंदूर का तिलक लगाएं।

  • बुधवार : प्रथम पूज्य भगवान श्री गणेश जी की कृपा पाने के लिए सिंदूर का तिलक लगाएं।

  • गुरुवार : देवगुरु बृहस्पति और भगवान श्री विष्णु की कृपा पाने के लिए पीले चंदन या केसर का तिलक लगाएं।

  • शुक्रवार : मां दुर्गा की कृपा पाने के लिए शुक्रवार के दिन रोली, लाल चंदन का तिलक लगाएं।

  • शनिवार : शनिदेव की कृपा पाने के लिए भस्म का तिलक लगाएं।

  • रविवार : भगवान सूर्य की कृपा पाने के लिए रविवार के दिन लाल चंदन या रोली का तिलक लगाना चाहिए।

(यहां दी गई जानकारी धार्मिक मान्यताओं और लोक मान्यताओं पर आधारित है, इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है। इसे आम जनहित को ध्यान में रखते हुए यहां प्रस्तुत किया गया है।)

Leave a Reply

error: Content is protected !!