Chandra grahan 2022 time and date chandra grahan ke baad kya kare in hindi | खत्म हुआ चंद्र ग्रहण, दुष्प्रभावों से बचने के लिए करें ये उपाय, चंद्र देव होंगे प्रसन्न

हिंदू मान्यता के अनुसार सिर्फ चंद्र ग्रहण के दौरान ही नहीं बल्कि उसके बाद भी कुछ नियमों का पालन करना बेहद जरूरी होता है। चंद्र ग्रहण के बाद की जाने वाली 5 महत्वपूर्ण बातों के बारे में जानने के लिए इस लेख को पढ़ें।

खत्म हो चुका है चंद्र ग्रहण, दुष्प्रभाव से बचने के लिए करें ये उपाय, प्रसन्न होंगे चंद्र देव

चंद्र ग्रहण 2022 ग्रहण के बाद इन उपायों से प्रसन्न होंगे चंद्र देव

छवि क्रेडिट स्रोत: pexels.com

चंद्र ग्रहण भले ही विज्ञान की दृष्टि से एक खगोलीय घटना है, लेकिन हिन्दू मान्यता के अनुसार इसका संबंध किसी पौराणिक घटना से है, जो निश्चित रूप से व्यक्ति विशेष को प्रभावित करती है। भारत में चंद्र ग्रहण शाम 05 बजकर 32 मिनट से शुरू होकर शाम 06 बजकर 18 मिनट पर समाप्त होगा। चंद्र ग्रहण की कुल अवधि 45 मिनट 48 सेकंड की होगी। चंद्र ग्रहण से 9 घंटे पहले सूतक काल शुरू हो जाता है, जो चंद्र ग्रहण की समाप्ति पर समाप्त होता है। सनातन परंपरा में ग्रहण के दौरान कुछ काम नहीं करने की सलाह दी जाती है, लेकिन ग्रहण खत्म होने के बाद भी आपको कुछ खास काम करने होते हैं। आइए विस्तार से जानते हैं वे 5 काम जो ग्रहण के बाद जरूरी माने जाते हैं।

1. चंद्र ग्रहण के तुरंत बाद स्नान करें

चंद्र ग्रहण के बाद घर के सभी सदस्यों को जल में गंगाजल डालकर स्नान करना चाहिए। इसके साथ ही घर में रखे देवी-देवताओं को गंगाजल से स्नान कराएं। माना जाता है कि नमक से घर को पोछा लगाने से घर से नकारात्मकता दूर होती है।

2. घर को गंगाजल से शुद्ध करें

माना जाता है कि चंद्र ग्रहण के प्रभाव से आसपास का वातावरण नकारात्मक और प्रदूषित हो जाता है। इसलिए ग्रहण के ठीक बाद घर की साफ-सफाई करें और पूरे घर में गंगाजल छिड़कें। अपने पूजा स्थल की विशेष रूप से सफाई करें, उसके बाद ही शाम का दीपक जलाएं।

3. चंद्र ग्रहण के दौरान दान जरूर करना चाहिए

हिन्दू धर्म में दान को किसी भी दोष या पाप से मुक्ति पाने का सबसे अच्छा माध्यम बताया गया है। ऐसे में चंद्र ग्रहण समाप्त होने के बाद स्नान और ध्यान करने के बाद जरूरतमंद व्यक्ति को अपने सामर्थ्य के अनुसार अन्न, वस्त्र, धन आदि का दान अवश्य करना चाहिए।

4. ताजा बना खाना ही खाएं

माना जाता है कि चंद्र ग्रहण के कुप्रभाव से घर में रखी हर वस्तु दूषित हो जाती है। घर में रखा खाना भी जहर के समान हो जाता है इसलिए ग्रहण के बाद रखे हुए खाने को भूलकर भी ना खाएं। साफ-सफाई और स्नान के बाद ताजा भोजन बनाकर ही ग्रहण करें।

5. इस साधना से हर मनोकामना पूरी होगी

चंद्र ग्रहण के बाद स्नान और ध्यान करने के बाद अपने पूजा स्थल को साफ करना चाहिए। उसके बाद श्री लक्ष्मी नारायण और चंद्र देव की विशेष पूजा करनी चाहिए। मान्यता है कि इस विधि से पूजा करने से श्री हरि और चंद्र देवता की कृपा बरसती है और चंद्र ग्रहण संबंधी सभी दोष दूर हो जाते हैं।

इसे भी पढ़ें



(यहां दी गई जानकारी धार्मिक मान्यताओं और लोक मान्यताओं पर आधारित है, इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है। इसे आम जनहित को ध्यान में रखते हुए यहां प्रस्तुत किया गया है।)

Leave a Reply

error: Content is protected !!