Chanakya Niti Man should learn from these qualities of animals and birds | Chanakya Niti: मनुष्य को जानवरों और पक्षियों के इन गुणों से लेनी चाहिए सीख

आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में हर क्षेत्र से जुड़ी बातों का जिक्र किया है। इन बातों का पालन कर व्यक्ति अपने जीवन को सफल बना सकता है। आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में पशु-पक्षियों के गुणों के बारे में भी बताया है। इन गुणों से जीवन के सबक सीख सकते हैं।

चाणक्य नीति: पशु-पक्षियों के इन गुणों से इंसान को सीख लेनी चाहिए

मनुष्य को पशु-पक्षियों के इन गुणों से सीख लेनी चाहिए

TV9 भारतवर्ष

TV9 भारतवर्ष | द्वारा संपादित: अंजलि राघव

संशोधित किया गया: नवम्बर 09, 2022 | सुबह 7 बजे




आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में कई बातों का जिक्र किया है। जीवन को सफल बनाने के लिए लोग फिर भी आचार्य चाणक्य की नीतियों का पालन करें इन नीतियों का पालन करने से व्यक्ति बड़ी से बड़ी समस्या को आसानी से दूर कर सकता है। आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में पशु-पक्षियों के गुणों का भी उल्लेख किया है। इन गुणों से भी व्यक्ति सीख सकता है और अपने जीवन को सफल बना सकता है। नीति शास्त्र में सिंह, चील, सर्प और गधे के अनेक गुणों का उल्लेख किया गया है।

इसे भी पढ़ें



  1. सांप – सांप के पैर नहीं होते। वह हमेशा रेंगता है। लेकिन कभी कमजोर नहीं दिखते। उन्होंने अपनी कमजोरी को ताकत बना लिया है। उसके तेज और जहर के कारण लोग उससे डरते हैं।
  2. सिंह – आचार्य चाणक्य के अनुसार व्यक्ति सिंह से एकाग्रता सीख सकता है। शेर अपने शिकार का शिकार बड़ी शिद्दत से करता है। वह कभी आलसी नहीं होता। इसलिए कभी भी किसी चीज को छोटा या बड़ा मत समझो। इसी गुण से हम जीवन में सफलता प्राप्त कर सकते हैं।
  3. बाज – बाज अपना निशाना कभी नहीं चूकता। कोई भी व्यक्ति चील से सीख सकता है कि लक्ष्य से चूकना नहीं है। इसलिए जीवन में कोई भी फैसला जल्दबाजी में न लें। हर स्थिति में सोच समझ कर निर्णय लें।
  4. गधा – बिना लक्ष्य के गधे की तरह मेहनत न करें। हमेशा अपना लक्ष्य निर्धारित करें। इससे आपकी प्रतिभा में निखार आएगा। नहीं तो जीवन भर गुलामी में ही रहना।

आज की बड़ी खबर

Leave a Reply

error: Content is protected !!