Chanakya Niti Keep distance from these people or else you will ruin your life | Chanakya Niti: इन लोगों से बनाकर रखें दूरी, वरना जीवनभर पड़ेगा पछताना

आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में कई बातों का जिक्र किया है। उन्होंने कुछ ऐसे लोगों के बारे में भी बताया है जिनसे दूरी बनाकर रखनी चाहिए। इन लोगों की संगति में रहने से आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

चाणक्य नीति: इन लोगों से दूरी बना लें, नहीं तो जीवन भर पछताना पड़ेगा

इन लोगों से दूरी बना लें नहीं तो आप अपना जीवन बर्बाद कर लेंगे

आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में लगभग हर क्षेत्र से जुड़ी बातों का जिक्र किया है। इन बातों का पालन कर व्यक्ति अपने जीवन को सफल बना सकता है। आचार्य चाणक्य इसकी नीतियां आज भी उतनी ही प्रासंगिक हैं जितनी पहले हुआ करती थीं। आचार्य चाणक्य ने इन नीतियों के आधार पर एक साधारण बालक चंद्रगुप्त मौर्य को सम्राट बना दिया। आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में भी कुछ ऐसे लोगों के बारे में बताया है जिनसे हमेशा दूरी बनाकर रखनी चाहिए। ऐसा करने पर बाद में पछताना पड़ सकता है। आइए जानते हैं कि इंसान को कैसे लोगों से दूरी बनानी चाहिए।

ऐसे लोगों से दूरी बनाए रखें

आचार्य चाणक्य ने अपने एक श्लोक में कुछ ऐसे लोगों का जिक्र किया है जिनसे सज्जन व्यक्ति को दूर ही रहना चाहिए। इनके सानिध्य में आकर जीवन बरबाद हो सकता है।

नैव पश्यति जन्मन्धः कमन्धो नैव पश्यति। मदोन्मत्त न पश्यन्ति का अर्थ है दोष या पश्यति। दह्यमानन सुतिव्रेन नीच: पर्यशोग्निना। अशक्तस्तत्पदं गण्तु ततो निंदां प्रकुर्वते।

इसे भी पढ़ें



  1. स्वार्थी व्यक्ति – आचार्य चाणक्य के अनुसार व्यक्ति को स्वार्थी लोगों से दूरी बनाकर रखनी चाहिए। ऐसे लोग किसी की परवाह नहीं करते। ये अपने फायदे के लिए किसी को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए इनसे दूर रहें।
  2. कामवासना में लिप्त व्यक्ति – कामवासना में लिप्त व्यक्ति पर कभी विश्वास नहीं करना चाहिए। ऐसे व्यक्ति पर विश्वास करने से व्यक्ति किसी बड़ी समस्या में फंस सकता है। इसलिए ऐसे लोगों से हमेशा दूरी बनाकर रखें। इन लोगों की वजह से आपको बदनामी का सामना करना पड़ सकता है।
  3. ईर्ष्या के लिए – ऐसे लोगों से दूर रहें जो आपसे ईर्ष्या करते हों। ऐसे लोग आपको सफलता प्राप्त करते नहीं देख सकते। वे आपको आगे बढ़ने से रोकने के लिए कई बाधाएं खड़ी कर सकते हैं।
Leave a Reply

error: Content is protected !!