Breaking News

Chanakya Niti According to Acharya Chanakya these 3 things never leave a person’s side | Chanakya Niti: चाणक्य के अनुसार व्यक्ति का साथ कभी नहीं छोड़ती ये 3 चीजें

TV9 भारतवर्ष

TV9 भारतवर्ष | द्वारा संपादित: सुरेंद्र कुमार वर्मा

संशोधित किया गया: दिसम्बर 06, 2022 | 8:05 पूर्वाह्न

चाणक्य नीति: आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में मनुष्य से जुड़ी कई बातों का जिक्र किया है. इन बातों का पालन कर व्यक्ति अपने जीवन को सफल बना सकता है।

चाणक्य नीति: चाणक्य के अनुसार ये 3 चीजें इंसान का साथ कभी नहीं छोड़ती हैं

आचार्य चाणक्य के अनुसार ये 3 चीजें इंसान का साथ कभी नहीं छोड़ती हैं

आचार्य चाणक्य एक अच्छे शिक्षक होने के साथ-साथ एक महान कूटनीतिज्ञ, रणनीतिकार और अर्थशास्त्री भी थे। चाणक्य की नीतियां आज भी प्रसिद्ध हैं। लोग आज भी जीवन में सफलता पाने के लिए इन नीतियों का पालन करते हैं। नीति इसमें लगभग हर क्षेत्र से जुड़ी बातों का जिक्र किया गया है। नीति शास्त्र में भी 3 ऐसी बातों का जिक्र किया गया है जो इंसान के साथ हमेशा रहती हैं। ये चीजें ऐसी हैं जो मरते दम तक इंसान का साथ नहीं छोड़तीं। आइए जानते हैं क्या हैं ये बातें।

विद्या मित्र प्रवेशषु भार्या मित्र गृहेषु च।

व्याधितस्योषधं मित्र धर्मो मित्रं मृतस्य ।

इसे भी पढ़ें



  1. ज्ञान – आचार्य चाणक्य के अनुसार ज्ञान व्यक्ति का सबसे बड़ा हथियार है। यह जीवन भर व्यक्ति के साथ रहता है। जीवन में हर कोई आपको छोड़ सकता है। लेकिन ज्ञान ही एक ऐसी चीज है जो हमेशा आपके साथ रहता है। बुद्धि के बल पर व्यक्ति किसी भी कठिन परिस्थिति से बाहर निकल सकता है। शिक्षा से ही व्यक्ति सफलता पाता है।
  2. दवाई – किसी भी बीमारी से छुटकारा पाने के लिए दवाई भी एक सच्चे दोस्त की तरह काम करती है। इससे व्यक्ति जल्दी ठीक हो जाता है। दवा की मदद से व्यक्ति किसी भी समस्या से आसानी से निजात पा सकता है। औषधि स्वास्थ्य में सुधार करती है।
  3. धर्म – चाणक्य के अनुसार व्यक्ति को धर्म को धन से ऊपर रखना चाहिए। धर्म न केवल व्यक्ति के जीते जी साथ देता है, बल्कि मरने के बाद भी साथ देता है। धर्म व्यक्ति को सही रास्ते पर चलने की प्रेरणा देता है। धर्म और कर्म के कारण मृत्यु के बाद भी व्यक्ति को हमेशा याद किया जाता है।

आज की बड़ी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!